News

२० दिसम्बर को इन्डोर स्टेडियम में सर्व मंगल आध्यात्मिक महाकुम्भ

प्रेस विज्ञप्ति
२० दिसम्बर को इन्डोर स्टेडियम में सर्व मंगल आध्यात्मिक महाकुम्भ

– मुख्य प्रशासिका दादी जानकी माउण्ट आबू से आएंगी…
– माननीय राज्यपाल करेंगी उद्घाटन, मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष भी रहेंगे मौजूद …
– देश भर से हजारों लोग शामिल होंगे…

रायपुर, १८ दिसम्बर: छत्तीसगढ़ राज्य में ईश्वरीय सेवाओं के ४० वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में २० दिसम्बर को शाम को ५ बजे बुढ़ापारा रायपुर स्थित इन्डोर स्टेडियम में सर्व मंगल आध्यात्मिक महाकुम्भ का आयोजन किया गया है। इस अवसर पर अपने आशीर्वचनों से लाभान्वित करने के लिए ब्रह्माकुमारी संस्थान की मुख्य प्रशासिका दादी जानकी रायपुर आएंगी।

प्रेस क्लब में पत्रकारों को यह जानकारी देते हुए माउण्ट आबू से पधारे ज्ञानामृत पत्रिका के प्रधान सम्पादक ब्रह्माकुमार आत्मप्रकाश ने बतलाया कि आध्यात्मिक महाकुम्भ का शुभारम्भ सुश्री अनुसूईया उइके माननीय राज्यपाल द्वारा किया जाएगा। प्रमुख उद्बोधन प्रयागराज सेवाकेन्द्र की संचालिका ब्रह्माकुमारी मनोरमा दीदी का होगा। सभा को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष चरण दास महन्त, संस्था के कार्यकारी सचिव ब्रह्माकुमार मृत्यंजय और क्षेत्रीय निदेशिका ब्रह्माकुमारी कमला दीदी भी सम्बोधित करेंगी। इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए पूरे देश भर से लोग रायपुर आ रहे हैं।

उन्होंने बतलाया कि दादी जानकी एक आध्यात्मिक व्यक्तित्व ही नहीं हैं, वरन् उनकी गणना विश्व के उन दस प्रमुख बुद्घिजीवियों (Keepers of Wisdom) में होती है, जिन्हें वर्ष १९९२ में रियो-डि-जेनरियो में सम्पन्न प्रथम पृथ्वी महासम्मेलन में विश्व नेताओं का मार्गदर्शन करने के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा मनोनीत किया गया था।

ब्रह्माकुमारी संस्थान की संस्थापक सदस्यों में से एक १०३ वर्षीय जानकी दादी वर्तमान समय विश्व की किसी भी अन्तर्राष्ट्रीय संगठन की सबसे वरिष्ठतम मुख्य प्रशासिका है। दादी जी ने अपनी योग की उपलब्धियों से दुनिया के वैज्ञानिकों को आश्चर्य चकित कर दिया है। आस्ट्रेलिया की युनिवर्सिटी ऑफ मेलबोर्न, अमेरिका की युनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास, सेनफ्रान्सिस्को की युनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया जैसी प्रख्यात संस्थाओं ने वैज्ञानिक परीक्षण में देखा कि परस्पर वार्तालाप करते हुए तथा गणितीय प्रश्नों का समाधान करते हुए भी दादी जी के मस्तिष्क से डेल्टा तरंगें ही प्रवाहित होती हैं। जबकि सामान्यत: गहन विश्राम अथवा निद्रा की अवस्था में ही डेल्टा तरंगे (सबसे धीमी तरंगे Slowest Brain Waves) निकलती हैं। इस प्रकार का परीक्षण वैज्ञानिकों ने विभिन्न योगियों के साथ किया किन्तु कहीं पर भी ऐसा अद्भुत परिणाम देखने को नहीं मिला। फलस्वरूप वैज्ञानिकों ने उन्हें सर्वाधिक स्थिर चित्त (Most Stable Mind in the World) महिला घोषित किया है।

आपकी व्यापक लोकप्रियता को देखते हुए भारत शासन ने आपको स्वच्छ भारत अभियान का ब्राण्ड एम्बेसेडर घोषित किया है।

आध्यात्मिक महाकुम्भ का १४० देशों में सीधा प्रसारण होगा-

ब्रह्माकुमार आत्मप्रकाश ने आगे कहा कि सर्व मंगल आध्यात्मिक महाकुम्भ का सीधा प्रसारण १४० देशों में एक साथ फ्री टू एयर (डी.टी.एच.)- पीस ऑफ माइण्ड चैनल पर किया जाएगा।

शासन ने स्टेट गेस्ट घोषित किया-

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की मुख्य प्रशासिका दादी जानकी के रायपुर प्रवास के दौरान उनको राज्य शासन ने राज्य अतिथि (स्टेट गेस्ट) घोषित किया है।


for media content and service news, please visit our website-
www.raipur.bk.ooo